BP NEWS CG
अन्य

शिक्षक दिवस शिक्षकों का सम्मान और शिक्षा का महत्व को जानने का अवसर है-कैबिनेट मंत्री श्री अकबर

छत्तीसगढ़ में स्वामी आत्मनन्द अंग्रेजी उत्कृष्ट स्कूल खुलने से शिक्षा का महत्व बढ़ा और अध्ययन करने का अवसर मिलने लगा
कैबिनेट मंत्री ने बालिका शिक्षा को बढ़ाने का आग्रह किया, कहा बेटियां जब शिक्षित होती है तो दो कुल और परिवार को शिक्षित करती है
कवर्धा, प्रदेश के वन, परिवहन, आवास, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री तथा कवर्धा विधायक श्री मोहम्मद अकबर ने कवर्धा के पीजी कालेज अडॉटेरियम में शिक्षा प्रतिभा अकादमी छत्तीसगढ़ द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय सम्मान समारोह में शामिल हुए। सम्मान समारोह का शुभारंभ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के तैल्यचित्र पर दीप प्रज्ज्वलन, माल्यार्पण तथा राजकीय गीत अरपा, पैरी के धार की स्तुति के साथ हुआ। केबिनेट मंत्री श्री अकबर ने मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण योजना अंतर्गत कबीरधाम जिले के प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक स्तर पर अध्यापन कराने वाले शिक्षकों को शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर शिक्षादूत पुरूस्कार और ज्ञानदीप पुरूस्कार से जिले एवं राज्यभर से आए 268 उत्कृष्ट शिक्षकों, सेवानिवृत्त शिक्षको को सम्मानित किया। जिसमें सेवानिवृत्त शिक्षक 51, मुख्यमंत्री गौरव अलंकरण के अंतगर्त शिक्षा दूत 12, ज्ञानदीप से 3, राज्यभर से आए उत्कृष्ट शिक्षक-शिक्षिका 200 शामिल है। केबिनेट मंत्री श्री अकबर ने सभी शिक्षकों को बधाई और शुभाकामनाएं दी। इस अवसर पर एससीआरटी के सेवानिवृत्त प्रोफेसर विद्यावती चंद्राकर, नगर पालिका अध्यक्ष श्री ऋषि शर्मा, कृषि उपज मंडी अध्यक्ष श्री नीलकंठ साहू, उपाध्यक्ष श्री चोवाराम साहू, श्री राधेलाल भास्कर, पार्षद श्री मोहित महेश्वरी, श्री राजकुमार तिवारी, श्री विरेन्द्र जांगड़े, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एम के गुप्ता, सहित गणमान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि, शिक्षक-शिक्षिकाएं उपस्थित थे।मंच संचालन श्री अवधेश श्रीवास्तव ने किया।
केबिनेट मंत्री श्री अकबर ने कहा कि कहा कि भारत मे शिक्षकों, गुरुजनों का विशेष सम्मान देने के लिए सर्वपल्ली श्री राधाकृष्णन का जन्मदिन (5 सितंबर) को पूरे भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। 5 सितम्बर को भारत के पूर्व राष्ट्रपति और महान शिक्षाविद डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म हुआ था। पहली बार शिक्षक दिवस 1962 में मनाया गया था। सर्वपल्ली राधा कृष्णन के जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस महान राष्ट्रपति ने कहा कि पूरी दुनिया एक विद्यालय है जहां से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। जीवन में शिक्षक हमें केवल पढ़ाते ही नहीं है बल्कि हमें जीवन के अनुभवों से गुजरने के दौरान अच्छे-बुरे के बीच फर्क करना भी सिखाते हैं।
मंत्री श्री अकबर ने कहा कि शिक्षा के माध्यम से बच्चे किसी भी कार्य को करने में सक्षम होते है। शिक्षक बच्चों के गुरू के रूप में मार्गदर्शन प्रदान करता है। शिक्षक से ही सफल होने का मार्गदर्शन मिलता है। उन्होंने शिक्षको को भविष्य में लगातर अच्छे कार्य करने प्रेरित किया। उल्लेखनीय है कि प्रत्येक विकासखंड के प्राथमिक स्तर पर अध्यापन कराने वाले तीन उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को शिक्षादूत पुरूस्कार और पूर्व माध्यमिक स्तर पर अध्यापन कराने वाले तीन उत्कृष्ट शिक्षकों को ज्ञानदीप पुरूस्कार के लिए चयन किया गया है। मंत्री श्री अकबर ने शिक्षादूत पुरूस्कार और ज्ञानदीप पुरूस्कार वर्ष 23 के लिए शिक्षकों को धनराशि व प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।
नगर पालिका अध्यक्ष श्री ऋषि शर्मा ने शिक्षक दिवस के अवसर पर समानित होने वाले सभी शिक्षकों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि शिक्षकों ने शिक्षकों के महत्व को बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि शिक्षा की वजह से हम शिक्षक अलंकरण और छात्र अलंकरण का आयोजन किया जाता है। शिक्षा किसी भी समाज के विकास के लिए सबसे प्रमुख और महत्वपूर्ण इकाई है। शिक्षा के बिना विकास की परिकल्पना नही किया जा सकता। शिक्षक और शिक्षा समाज का दिशा निर्देशक होता है। उन्होनें कहा कि शिक्षक, शिक्षा और विद्यालय व्यतित्त्व का सार्थक विकास होता है। उन्होंने कोचिंग सेंटर और विद्यालय में बड़ा फर्क बताते हुए कहा कि विद्यालय में शिक्षा, व्यकितत्व और समाज का सर्वागीण विकास होता है, जबकि किसी कोचिंग संस्थान में यह नही हो सकता।
मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण योजना के तहत शिक्षा दूत पुरूस्कार 2023 के लिए विकासखंड कवर्धा के शासकीय प्राथमिक शाला मक्के के श्रीमती एलवीना विलसन, छाटाझा के अश्वनी कुमार पासवान, बिपतरा के सावन कुमार चंद्रवंशी, विकासखंड सहसपुर लोहारा के शासकीय प्राथमिक शाला धनगांव के श्री जगदीश प्रसाद ठाकुर, बाम्हनटोला के श्रीमती श्वेता वर्मा, मोतिमपुर के श्री नदीम खान, विकासखंड पंडरिया के प्राथमिक शाला गुंझेटा के श्रीमती शैल सोयम, जामुनपानी के श्री भुनेश्वर राम साहू, बंशापुर के श्री मोहन कुमार चतुर्वेदी, विकासखंड बोड़ला के शासकीय प्राथमिक शाला बहनाखोदरा के श्री सुभाष गढ़रिया, अचानकपुर के श्री सुरेश कुमार चंद्रवंशी और शासकीय प्राथमिक शाला अमरौडी के शिक्षिका श्रीमती दुर्गा श्रीवास को पांच-पांच हजार रूपए प्रदान कर सम्मानित किया गया।
मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण योजना अंतर्गत सत्र 2023 के लिए शिक्षकों को ज्ञानदीप पुरूस्कार से सम्मानित किया गया। इसके तहत शाकीय पूर्व माध्यमिक शाला भेदली के शिक्षक वर्षा मानिकपुरी, शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला बोड़ला के शिक्षिक श्री पूनाराम पनागर और शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला पटपर के शिक्षक श्री शेख कलीम मोहम्मद को सात-सात हजार रूपए प्रदान कर सम्मानित किया गया।

Related posts

बच्चों के शारीरिक विकास के लिए कृमि की खुराक जरूर लें- कलेक्टर सभी पालक अपने बच्चों को एलबेंडाजोल की टेबलेट अवश्य खिलाए

bpnewscg

07 सितम्बर को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर शुष्क दिवस घोषित

bpnewscg

नारी शक्ति वंदन अधिनियम” विकसित और समृद्ध भारत के निर्माण का मुख्य स्तंभ बनेगा : भावना बोहरा

bpnewscg

Leave a Comment