BP NEWS CG
अन्य

महात्मा गांधी रूलर इंडस्ट्रियल पार्क की मदद से ग्रामीण महिलाओं ने बनाई सफल उद्यमी की पहचान , स्वतंत्रता दिवस समारोह महिला समूह के लिए बनी मीठी यादगार रीपा केंद्र से 35 क्विंटल बूंदी और 2 क्विंटल नमकीन बेचकर हुई लाखों की कमाई

कवर्धा, कबीरधाम जिले में आजादी का 77वें स्वतंत्रता दिवस रीपा में काम करने वाली महिला स्वसहायता समूहों की महिलाओं के लिए दोहरी खुशियां लेकर आई है। सहसपुर लोहारा विकासखण्ड के सुरजपुरा जंगल में संचालित महात्मा गांधी ग्रामीण औद्योगिक पार्क रीपा की स्वसहायता समूहों की दीदियों ने 15 अगस्त पर 35 क्विंटल बुंदी और दो क्विंटल नमकीन तैयार कर 4लाख 56 हजार रूपए का बिजनेस की है, इससे समूह को 1 लाख 20 हजार रुपए से अधिक का शुद्ध मुनाफा हुआ। समुह की महिलाओं ने कहा कि आजादी का यह पर्व इस बार हमें दोहरी खुशियां दी है। इस योजना ने हमारे जीवन में हर्षोल्लास के साथ आर्थिक आजादी का सपना भी साकार किया है।
  उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर आधारित स्थानीय स्तर पर वहां के लोगों और समूहों के लिए रोजगार के साधन उपलब्ध कराते हुए महात्मा गांधी ग्रामीण आद्यौगिक पार्क रीपा योजना संचालित की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस योजना को राष्ट्रपिता महात्मागांधी के जन्म दिवस के दिन दो अक्टूबर को पूरे प्रदेश में शुभारंभ किया था।
कबीरधाम जिले के चार विकासखण्डों में आठ अलग-अलग ग्राम पंचायतों में महात्मा गांधी ग्रामीण औद्योगिक पार्क संचालित हो रही हैं,जिसमें ग्रामीण अर्थव्यवस्था एवं स्थानीय मांग के अनुरूप 47 अलग-अलग गतिविधियां संचालित हो रही है।
रीपा केंद्र ने दी हमें नई पहचान-श्रीमती चंद्रिका देवांगन
समूहू की सचिव श्रीमती चंद्रिका देवांगन चर्चा करते हुए बताती है, कि रीपा केंद्र में हमने अपना नमकीन निर्माण का व्यवसाय शुरू किया है। समय-समय पर खाद्य सामग्रियों की मांग के अनुसार हम इसका विक्रय कर रहे हैं। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर समूह के सभी सदस्यों ने आपस में तय किया कि आसपास के ग्राम पंचायतों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों से संपर्क कर बूंदी एवं नमकीन के आपूर्ति का काम लिया जाए। देखते ही देखते हम लोगों को 35 क्विंटल बूंदी और 2 क्विंटल नमकीन बनाने का ऑर्डर मिल गया। लगातार 5 से 6 दिन मेहनत करके हम समूह के सदस्यों ने खाद्य सामग्री तैयार कर संबंधित प्रतिष्ठानों को उपलब्ध करा दिया। 120 रुपए प्रति किलो की दर से बूंदी और 180 रुपए प्रति किलो की दर से सेव और मिक्सचर विक्रय किया गया। हम सभी समूह की महिलाएं बहुत खुश हैं कि पहले ही प्रयास में इतना बड़ा ऑर्डर हमको मिला और हमने इसे समय में पूरा करके अच्छा लाभ कमाया है।
मांग आधारित व्यवसाय से हो रहा बेहतर लाभ-कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे
      कलेक्टर कबीरधाम श्री जनमेजय महोबे ने इस संबंध में चर्चा करते हुए बताया कि महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में समूह को नमकीन और चिप्स बनाने के लिए चयन किया गया है, क्योंकि समूह पहले छोटा-छोटा ऑर्डर लेकर कार्य करते थे और उनके कार्य क्षमता को देखते हुए इन्हें रीपा में कार्य संचालन का अवसर मिला। श्री जनमेजय महोबे ने आगे बताया की आज समूह की दीदीयों ने अपने कार्य कुशलता और बेहतर संचालन से स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व में लगने वाले खाद्य सामग्रियों का निर्माण कर लाखों रुपए का व्यवसाय किया है, जो समहू की महिलाओं को सफल उद्यमी के रूप में स्थापित करता है।
ग्रामीण महिलाओं को सफल उद्यमी बनने हो रहा निरंतर प्रयास-सीईओ जिला पंचायत
मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कबीरधाम श्री संदीप कुमार अग्रवाल ने कहा कि यह बहुत खुशी की बात हैं, कि रीपा केंद्र ग्रामीण महिलाओं के लिए उपयोगी सिद्ध हो रहा है। सभी जरूरी सुविधाओं से लैस रीपा केंद्र महिलाओं को आत्म निर्भर बना रहा है। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हुए लाभ से समूह की दीदीयों का हौसला बढ़ेगा जो उन्हें सफल उद्यमी के रूप में आगे बनाएगा। साथ ही बेहतर कार्य करते हुए नमकीन भुजिया जैसे खाद्य सामग्रियों का निर्माण कर व्यापक रूप से मार्केटिंग के द्वारा अपनी आमदनी बढ़ाने की योजना महिलाओं ने बनाई है, जो बहुत प्रसन्नता की बात है। इसके लिए समहू को सभी जरूरी सहयोग दिया जाएगा।

 

 

 

 

 

 

Related posts

बाज़ार चारभाठा में बालीबाल मैच उद्घाटन में पहुचे महेश चन्द्रवँशी

bpnewscg

चार मवेशी तस्कर के कब्जे में 16 भैसा जप्त, पुलिस ने भेजा जेल

bpnewscg

नए कप्तान से लोगो को था उम्मीद लेकिन वो भी नही हो रहा पूरा  चोरी से निजात कब

bpnewscg

Leave a Comment