BP NEWS CG
अन्य

पंडरिया विधानसभा में भाजपा को जिताऊ प्रत्यासी की तलाश

मतदाताओं में स्थानीय की मांग
कवर्धा, छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव की तिथि नजदीक आते ही पार्टी और प्रत्यासियो में उम्मीदवारी को लेकर दौड़ भाग शुरू हो जाता हैं । छत्तीसगढ़ विधानसभा में पंडरिया का स्थान महत्वपूर्ण है । पिछले विधानसभा चुनावों में भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों ने बाहरी लोगो को प्रत्यासी बनाकर मतदाताओं के ऊपर थोपा गया लेकिन इस बार स्थानीय की मांग जोर पकड़ लिया है । पंडरिया विधानसभा में अन्य पिछड़ा वर्ग का बाहुल्यता है और इसी वर्ग को टिकट भी मिलता आ रहा है लेकिन इस बार की चुनाव में भाजपा से समाज सेविका भावना बोहरा , पूर्व गौसेवा आयोग के अध्यक्ष बिसेसर पटेल और दिनेश चंद्रवंशी के नाम का चर्चा जोरों पर हैं और कयास भी लगाया जा रहा है कि इन्ही में से किसी एक को पंडरिया विधानसभा चुनाव में प्रत्यासी घोषित किया जा सकता है ।
स्थानीय प्रत्यासी की मांग
छत्तीसगढ़ राज्य गठन के बाद पंडरिया विधानसभा में बाहरी प्रत्यासियों को टिकट मिलते आ रहा है जिससे लोगो के मन में नाराजगी है इसलिए इस बार स्थानीय प्रत्यासी की चयन को लेकर कयास लगाया जा रहा है। स्थानीय प्रत्यासी को प्राथमिकता देने के लिए पार्टी पर्यवेक्षक और आला नेताओं को लोगो ने अवगत भी करा दिए है । भाजपा पंडरिया विधानसभा को अपने हाथ में रखने के लिए प्रत्यासी चयन को लेकर बड़ी असमंजस की स्थिति में दिखाई दे रहा है ।
ये है संभावित उम्मीदवार
पंडरिया विधानसभा में कुर्मी ,तेली , मरार पटेल समाज की बाहुलयता है साथ ही अनुसूचित जाति और जनजातियों की संख्या भी कम नही है लेकिन पंडरिया विधानसभा 71 सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित हैं । स्थानीय प्रत्यासी के रूप में समाज सेविका भावना बोहरा लोगो की जुबान में बैठा है । भावना बोहरा वर्तमान में कबीरधाम जिला पंचायत की सभापति है और इनके द्वारा समाज सेविका के रूप में कालेज में पढ़ने वाली बेटियो को लिए निःशुल्क बस सेवा , लोगो की बेहतर स्वास्थ के लिए तीन एंबुलेंस एक मोबाइल यूनिट जो हाट बाजार में जाकर स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए तीस बीमारियों का इलाज करते है , छात्र छात्राओं के लिए छतरी वितरण सहित अनेक प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध रहती है साथ ही लोगो की सामाजिक पारिवारिक कार्यक्रमों में भी शामिल होती है । पूर्व गौसेवा आयोग के अध्यक्ष बिसेसर पटेल का नाम भी स्थानीय दावेदार में जोरो पर है। बिसेसर पटेल शासकीय सेवक शिक्षक के रूप में अपनी सेवाएं दी है । पटेल समाज में पकड़ मजबूत है साथ ही समाज के विभिन्न पदों पर रहते हुए अपनी पदीय दायित्व का निःपक्ष रूप से निभाते रहे है । आर एस एस में भी विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किए है । सामाजिक पकड़ और आर एस एस के चलते डा रमन सिंह के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ शासन में गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष बनाए गए थे। पंडरिया विधानसभा क्षेत्र के ग्राम खपरी निवासी दिनेश चंद्रवंशी की दावेदारी मजबूत है पेशे से कृषक और ट्रांसपोर्टर है । पढ़ाई जीवन से ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में जुड़कर काम करते हुए लोगो की सेवा में लगे रहे । दिनेश चंद्रवंशी भाजपा संगठन के रूप में भी पार्टी के द्वारा दिए गए जिम्मेदारियों का निष्ठा से निर्वहन किया है । राजनीति में काफी दिनों से जुड़े हुए है इनकी पत्नी वर्तमान में कवर्धा जनपद पंचायत की अध्यक्षा है इसके पहले जिला पंचायत कबीरधाम की सभापति के रूप में भी अपनी सेवाएं दी है । दिनेश चंद्रवंशी खेल की क्षेत्र में भी रुचि रखते हैं वो कबड्डी संघ के पदाधिकारी भी है । पूर्व सांसद प्रतिनिधि भी रहे । इनके बड़े भैया छत्तीसगढ राज्य के प्रथम शक्कर कारखाना में अध्यक्ष की रूप में निर्वाचित हुए थे । इनके अलावा जनपद पंचायत पंडरिया उपाध्यक्ष तूलस कश्यप , क्रांति गुप्ता, उतरा गोकुल साहू,पूर्व विधायक मोतीराम चंद्रवंशी , सीताराम साहू सहित दर्जनों लोगो ने अपनी दावेदारी पेश करते हुए आवेदन दिए है ।
जातिवाद हावी
पंडरिया विधानसभा में पिछड़ा वर्ग की बहुलता के चलाते यहाँ पर जाति वाद हावी है । विधानसभा की प्रत्यासी बनने के लिए दावेदारों में प्रतिष्पर्दा चल रहा है,कोई वाल पेंटिग करा रहा है तो कोई बैनर पोस्टर लगा रहा है लेकिन मतदाताओं और पार्टी हाई कमान अपने सर्वे और मतदाताओं के मांग के अनुरूप जिताऊ प्रत्यासी का चयन करने में कोई कसर नही छोड़ रहे है।

Related posts

मालीकराम चंद्रवंशी की पंडरिया विधानसभा से दावेदारी

bpnewscg

घर में आग लगाने वाले दो सगे भाई को पुलिस ने भेजा जेल

bpnewscg

भागीरथी बने श्री राधा कृष्ण मंदिर समिति डोंगरिया का अध्यक्ष

bpnewscg

Leave a Comment