BP NEWS CG
Breaking Newsअन्यबड़ी खबरसमाचारसिटी न्यूज़

सहकारी शक्कर कारखानों से गन्ना उत्पादक किसानों को गन्ना प्रोत्साहन राशि जारी

कवर्धा, कलेक्टर ने जिले के दोनों सहकारी शक्कर कारखाना प्रबंधक द्वारा गन्ना उत्पादक किसानों को राज्य शासन ने प्रदान की जाने वाली गन्ना प्रोत्साहन राशि के संबंध में आवश्यक जानकारी ली। कलेक्टर ने कृषि तथा भोरमदेव व सरदार वल्लभ भाई पटेल सहकारी शक्कर कारखाना के अधिकारियों की बैठक लेकर प्रोत्साहन राशि के संबंध में जानकारी ली।
बैठक में बताया कि जिले के दोनो सहकारी शक्कर कारखानों में पेराई वर्ष 2021-22 गन्ना विक्रय करने वाले किसानों को गन्ना प्रोत्साहन राशि प्रदाय किया जा रहा है। भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना, राम्हेपुर में पंजीकृत 11 हजार 170 कृषकों के द्वारा विक्रय किए गए 345003.080 मेट्रिक टन गन्ने का 79.50 रूपए प्रति क्विंटल की दर से 27 करोड़ 42 लाख 77 हजार 448 रूपए एवं लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल सहकारी शक्कर उत्पादक कारखाना, पंडरिया में पंजीकृत 7 हजार 277 कृषकों के ने 295017.544 मेट्रिक टन गन्ने का 79.50 रूपए प्रति क्विंटल की दर से  23 करोड़ 45 लाख 39 हजार 62 रूपए प्रदाय किया गया है। दोनो सहकारी शक्कर उत्पादक कारखानों से पेराई वर्ष 2021-22 में गन्ना विक्रय करने वाले कुल 18 हजार 447 किसानों को गन्ना प्रोत्साहन राशि के रूप में 50 करोड़ 88 लाख 16 हजार 510 रूपए प्रदाय किया गया है। साथ ही भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना, राम्हेपुर में पंजीकृत कृषकों के लिए गन्ना प्रोत्साहन राशि के भुगतान के लिए राशि की मांग शासन से की गई है, जो प्राप्त होते ही कृषकों को भुगतान कर दिया जाएगा।
लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल सहकारी शक्कर कारखाना के एमडी श्री भूपेन्द्र ठाकुर ने बताया कि गन्ना किसानों के लिए 10 करोड़ 76 लाख रूपए, पेराई सत्र 2022-23 में सरदार वल्लभ भाई पटेल सहकारी शक्कर कारखना पंडरिया में शेयर धारी 7 हजार 697 किसानों से 2.70 लाख मेट्रिक टन गन्ने की खरीदी की गई थी। जिसका भुगतान योग्य राशि एफआरपी (9.5 प्रतिशत) दर पर 76 करोड़ 33 लाख होती हैं। जिसमें से आज दिनांक तक 59 करोड़ 05 लाख रूपए की राशि ज़ारी हो चुकी हैं। जो कुल की 77.3 प्रतिशत हैं। शेष राशि का भुगतान जल्द ही किया जाएगा।
उन्होंनें बताया कि पेराई सत्र 2021-22 में यह कारखाना रिकवरी के मामले में 13.12 प्रतिशत के साथ पूरे देश में पहले स्थान पर थी। जिससे किसानों को 30 करोड़ 8 लाख रूपये मूल पेमेंट के अतिरिक्त प्राप्त हुई थी। इस वर्ष 2022-23 में कारखाने का रिकवरी दर 13.15 प्रतिशत के साथ पूर्व वर्षो से अधिक प्राप्त हुई हैं। ज्ञात आंकड़े (अनंतिम ) के अनुसार इस वर्ष भी देश में सर्वाधिक रिकवरी प्राप्त करने वाला कारखाना होने का गौरव पंडरिया कारखाने को प्राप्त हुआ हैं। जिससे किसानों को मूल पेमेंट के अतिरिक्त 30 करोड़ रूपए कि राशि प्राप्त होंगी। पंडरिया कारखाने के द्वारा शासन की योजना राजीव गाँधी किसान न्याय योजना और गन्ना प्रोत्साहन योजना की राशि मिलाकर गन्ने का मूल्य प्रति क्विंटल 459 रूपए पेराई सत्र 2021-22 में भुगतान किया गया हैं, जो देश में गन्ने का सर्वाधिक मूल्य हैं। साथ ही इस वर्ष 2022-23 में अच्छी रिकवरी रहने से यह मूल्य 466 रूपये तक जाएगी जो पूरे देश में गन्ने का सर्वाधिक मूल्य होगा।
कृषि विभाग के उपसंचालक श्री राकेश शर्मा ने बताया कि शासन से प्राप्त निर्देशानुसार जिले के दोनों सहकारी शक्कर कारखानों के अंतर्गत गन्ना विक्रय करने वाले कृषकों को आगामी सीजन खरीफ 2023 से गन्ना प्रोत्साहन योजनांतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए एकीकृत किसान पोर्टल में पंजीयन कराना अनिवार्य होगा। उन्होंने बताया कि इन पंजीकृत किसानों के पंजीकृत रकबा का गन्ना ही कारखानों में खरीदी की जाएगी। श्री शर्मा ने जिले के गन्ना फसल उत्पादक सभी किसानों से अपील करते हुए कहा है कि बोए गए गन्ना फसल के समस्त रकबे का पंजीयन एकीकृत किसान पोर्टल में कराने के लिए अपने ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी या संबंधित सेवा सहकारी समिति प्रबंधक से संपर्क कर सकते हैं। इस योजनांतर्गत पंजीयन के लिए निर्धारित आवेदन पत्र के साथ बी-1, पी-2, आधार कार्ड, बैंक पासबुक, ऋण पुस्तिका की छायाप्रति जमा किया जाना आवश्यक है।

Related posts

समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने स्कूल और आंगनबाड़ी की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने के दिए निर्देश

bpnewscg

असम मुख्यमंत्री की उपस्थिति में होगी भाजपा की जनसभा और विजय शर्मा का नामांकन

bpnewscg

हिंदुत्व का मुद्दा हावी दसवा चक्र में एतिहासिक जित कि कगार पर विजय लगभग 20000 से और भावना 8600 से आगे जीत की आपर संभावना

bpnewscg

Leave a Comment